बिहार की पॉलिटिक्स में डायरेक्ट इंट्री की तैयारी में प्रशांत किशोर, जानिए इनका फ्यूचर प्लान

प्रशांत किशोर की पहचान चुनावी रणनीतिकार के तौर पर ज्यादा होती है लेकिन वर्तमान राजनीतिक संदर्भ और बिहार के ताजा हालात को देखते हुए प्रशांत किशोर ने रणनीतिकार से राजनेता बनने का फैसला ले लिया है और इसकी शुरूआत वो बिहार से ही करेंगे|

पटना. चुनावी रणनीतिकार से राजनेता बने प्रशांत किशोर यानी पीके, बहुत जल्द फिर से सियासी पारी शुरू करने जा रहे हैं. इसकी शुरुआत बिहार से होगी. सियासी हलकों में PK को अभी तक चुनावी रणनीतिकार के तौर पर ही जाना जाता रहा है. हालांकि इस दौरान वे नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड में भी शामिल हुए, लेकिन वह पारी लंबी नहीं खिंची|

हाल के दिनों में उनकी कांग्रेस में एंट्री की भूमिका बनने लगी थी, मगर यह भी परवान नहीं चढ़ी. अब पीके ने खुद राजनीति में उतरने की तैयारी शुरू कर दी है, जिसकी शुरुआत अपनी मिट्टी बिहार से करने वाले हैं. जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक पीके बहुत जल्द बिहार का दौरा कर युवाओं और गैर राजनीतिक लोगों से मुलाकात करेंगे और नई राजनीतिक व्यवस्था तैयार करेंगे|

न्यूज़ 18 को मिली जानकारी के मुताबिक प्रशांत किशोर ने कांग्रेस का प्रस्ताव ठुकरा कर नई रणनीति के तहत बिहार को फोकस कर लिया है. आने वाले कई महीनों तक बिहार के लोगों के बीच जाकर वो ज़मीनी हकीकत जानने की कोशिश करेंगे. इस दौरान जनता के मन में क्या है, इसकी भी जानकारी लेंगे. न्यूज 18 को सूत्रों ने बताया कि प्रशांत किशोर ना तो कोई रैली करने वाले हैं और ना ही कोई बड़ा राजनीतिक आयोजन, वो सीधे जनता से कनेक्ट होने की कोशिश करने वाले हैं. वे खुल कर बिहार से राजनीतिक पारी की शुरुआत करने वाले हैं|

प्रशांत किशोर के नजदीकी ने ये भी बताया कि फिलहाल पीके का किसी भी राजनीतिक दल के साथ मिल कर राजनीति करने का इरादा नही हैं. वे खुद अपनी राजनीति करने वाले हैं. बहुत जल्द पीके इसकी घोषणा खुद कर सकते हैं कि वे बिहार से अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत करने वाले हैं. प्रशांत किशोर के करीबी ये भी बताते हैं कि आने वाले कुछ दिन प्रशांत किशोर बड़ी संख्या में युवाओं से वन टू वन मिलने वाले हैं और आगे राजनीतिक रणनीति बनाने में युवाओं को भी प्रमुख भूमिका में रखने वाले हैं|

Leave a Reply

Your email address will not be published.