देखिए शादी के लहंगे और फुल मेकअप में परीक्षा देने के लिए पहुंची दुल्हन, इसकी वजह जानकर चौंक जाएंगे आप

पिछले साल एक महिला का अपनी शादी के लहंगे में परीक्षा देते हुए एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ था। शिवांगी बगथारिया को लाल रंग के शादी के खूबसूरत लहंगे, दुल्हन की ज्वैलरी और फुल मेकअप में परीक्षा देते हुए देखा जा सकता है। शिवांगी परीक्षा हॉल में मौजूद अन्य छात्रों के साथ पूरी एकाग्रता के साथ बैठकर अपना पेपर देते हुए दिखाई दे रही हैं,

शिवांगी ने अपनी शादी से ज्यादा पढ़ाई और परीक्षा को अहमीयत दी। गुजरात के राजकोट की रहने वाली शिवांगी ने ह्यूमन्स ऑफ बॉम्बे के साथ एक इंटरव्यू में उन परिस्थितियों के बारे में बात की, जिसके कारण उन्होंने अपनी तरह की अनूठी परीक्षा दी,

अपने इंटरव्यू में शिवांगी ने बताया कि शिक्षा हमेशा से उनकी पहली प्राथमिकता रही है। वह अपनी मां से बहुत प्रेरित थीं। उसने कहा कि जब मम्मी ने पापा से शादी की, तब वह कॉलेज के दूसरे वर्ष में थी। वह कुछ महीने बाद गर्भवती हुई, जिस वजह से उसे पढ़ाई बंद करनी पड़ी। लेकिन वह इसमें वापस आना चाहती थी। मैं 8 साल की थी जब उसने अपनी डिग्री पूरी करने के लिए कॉलेज में जाना शुरू किया,

देखिए शादी के लहंगे और फुल मेकअप में परीक्षा देने के लिए पहुंची दुल्हन, इसकी वजह जानकर चौंक जाएंगे आप

शिवांगी बगथारिया और उनका भाई परीक्षा हॉल के बाहर इंतजार करते थे, जबकि उनकी मां ने परीक्षा देती थी। उसने कहा कि तब से, मेरे दिमाग में यह बैठ गया कि शिक्षा हमेशा पहले आती है। अपनी मां से प्रेरित होकर, शिवांगी ने टीचरों की सलाह पर ध्यान केंद्रित किया और आमतौर पर अपनी कक्षा के शीर्ष तीन छात्रों में से एक रहती थीं,

उसने कहा कि ग्रेजुएट होने के बाद, मैं खुद का अपना एक NGO खोलना चाहती हूं, इसलिए 2018 में मैंने सोशल वर्क में डिग्री हासिल करना शुरू कर दिया. यही वह समय था जब शिवांगी पार्थ से एक अरेंज मैरिज सेटअप के जरिए मिली थीं, शिवांगी ने बताया कि पहली बार जब मैं पार्थ से मिली, तो मैंने कहा कि मैं अपने सपनों को पूरा करना चाहती हूं. मैं इससे समझौता नहीं करूंगी? उसने कहा कि मैं भी ऐसा ही करना चाहता हूं, शिवांगी ने कहा कि शादी से पहले जितना हम उसके बारे में बात करते थे, उससे कहीं ज्यादा वह मुझे पसंद आया,

शादी की तारीख तय थी और दोनों तरफ तैयारी जोरों पर थी, इस दौरान जब शिवांगी को खबर मिली कि उसकी शादी के दिन ही उसकी परीक्षा की डेट पड़ गई है, उसने कहा कि अपने सबसे बुरे सपने में भी मैं नहीं सोची था कि मेरी परीक्षा की तारीख मेरी शादी के दिन ही पड़ेगी, जब मुझे पता चला तो मैंने सबसे पहले पार्थ को फोन किया, मैंने जब उसे इसके बारे में बताना शुरू किया तो उसने मेरा फोन काटते हुए कहा, आप अपनी परीक्षा छोड़ नहीं सकते, वे महत्वपूर्ण हैं,

इसके बाद पंडित को शादी के मुहूर्त को सुबह के बजाय दोपहर तक आगे बढ़ाने के लिए कहा गया, शिवांगी ने परीक्षा/शादी से एक दिन पहले वाली रात पार्लर में बिताई, उसने कहा कि मैं 2 बजे पार्लर पहुंची, जब वह सुबह 10.30 बजे अपनी दुल्हन की पोशाक पहने परीक्षा केंद्र पहुंचीं, तो उसके सहपाठी हैरान हो गए, हालांकि, शिवांगी की टीचर ने शिक्षा को सबसे ऊपर रखने के लिए उसकी सराहना की,

Leave a Reply

Your email address will not be published.