डीयू यूजी प्रवेश की नीति हो गई जारी सीयूईटी एग्जाम देना होगा जरूरी, जाने पूरी डिटेल।

दिल्ली विश्वविद्यालय ने 2022-23 शैक्षणिक वर्ष के लिए विश्वविद्यालय की प्रवेश नीति जारी कर दी है. इसके मुताबिक विवि की तरफ से यूजी कोर्सेज में प्रवेश इस बार 12वीं के अंकों के आधार पर नहीं दिया जाएगा. सभी छात्रों को इस बार सीयूईटी एग्जाम देना होगा.

दिल्ली विश्वविद्यालय ने 2022-23 शैक्षणिक वर्ष के लिए विश्वविद्यालय की प्रवेश नीति जारी कर दी है. कुलपति योगेश सिंह ने बताया कि कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (CUET 2022) के अंकों के आधार पर योग्यता तय की जाएगी. “उम्मीदवार सीयूईटी में केवल उन्हीं विषयों में उपस्थित हो सकेंगे जो उन्होंने बारहवीं कक्षा में लिए हैं. योग्यता का आकलन भी केवल उन विषयों के आधार पर किया जाएगा, जिनमें अभ्यर्थी सीयूईटी परीक्षा में उपस्थित हुए हैं. 

कुलपति योगेश सिंह ने बताया कि स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग और नेशनल कॉलेजिएट महिला शिक्षा बोर्ड को छोड़कर अंडरग्रेजुएट प्रोग्राम्स में एडमिशन सीयूईटी 2022 के जरिए ही होगा. वीसी ने कहा, “अतिरिक्त सीटों पर प्रवेश के इच्छुक सभी अभ्यर्थियों के लिए सीयूईटी 2022 में उपस्थित होना अनिवार्य है. पात्रता मानदंड सीयूईटी में प्राप्त अंकों के आधार पर तय किया जाएगा” अभ्यर्थी CUET के लिए अधिकतम छह विषयों में उपस्थित हो सकते हैं, जिनमें से एक भाषा का विषय होना चाहिए.

विवि के डीन प्रवेश हनीत गांधी की मानें तो CUET 2022 में तीन खंड होंगे, पहले खंड में दो भाग होंगे. CUET के पहले भाग में 13 भाषाएं और दूसरे भाग में 20 भाषाएं हैं. गांधी ने कहा, “अभ्यर्थियों को दिल्ली विश्वविद्यालय में प्रवेश के लिए कम से कम एक भाषा में उपस्थित होना अनिवार्य है” प्रवेश परीक्षा के दूसरे खंड में 27 डोमेन-विशिष्ट विषय होते हैं. तीसरा खंड सामान्य ज्ञान पर आधारित है जो केवल बीए प्रोग्राम में प्रवेश के लिए होगा.

आपको बता दें कि यूजी कोर्सेज में प्रवेश के लिए सीयूईटी के लिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया आज से शुरू हो जाएगी. रजिस्ट्रेशन शुरू होते ही अभ्यर्थी ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकेंगे. आवेदन का स्टेप्स ऑफिशियल वेबसाइट पर दिया गया है. इस बार डीयू में 12वीं के अंकों के आधार पर प्रवेश नहीं दिया जाएगा. 

Leave a Reply

Your email address will not be published.