मिठाई दुकानदार की बेटी बनी बिहार की सेकेंड टापर, नवादा की सानिया बनना चाहती है डाक्टर

बिहार मैट्रिक का रिजल्ट घोषित हो चुका है। इस बार लड़कियों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है। इस बार 79.88 प्रतिशत छात्रों ने सफलता पाई है। औरंगाबाद की रामायणी ने पूरे बिहार में टाप किया तो नवादा के रजौली बाजार में मिठाई की दुकान चलाने वाले उदय प्रसाद की पुत्री सानिया की सानिया सूबे की सेकंड टापर बनी है। सने 486 अंक लाकर पूरे जिले का नाम रोशन किया है। सानिया ने बताया कि उसे पूरी उम्मीद थी कि परीक्षा में बेहतरीन उपलब्धि हासिल होगी। हालांकि गणित में चार अंक कम प्राप्त हुए हैं। इस विषय में पूरे सौ नंबर आना चाहिए था। परीक्षा देकर घर लौटने पर प्रश्न व उत्तर का मिलान किया था, जिसमें शत-प्रतिशत सही लिखकर आई थी। सानिया ने बताया कि रजौली में ही निजी विद्यालय से प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त की।

फिर प्रोजेक्ट कन्या इंटर विद्यालय रजौली से मैट्रिक की परीक्षा दी। चार भाई-बहनों में सबसे छोटी सानिया की इस उपलब्धि पर परिवार में खुशी का माहौल है। मां किरण देवी गृहिणी हैं। उसने बताया कि आगे चलकर डाक्टर बनने की तमन्ना है, ताकि समाज की सेवा कर सकूं। उसने अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता व गुरुजनों को दिया। मैट्रिक में बिहार की सेकंड टापर बनने पर परिवार में जश्न का माहौल है। माता-पिता व भाई-बहनों ने मिठाई खिलाकर खुशी का इजहार किया। सानिया को बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है।

पूरे बिहार में सेकंड टापर आने की बात सुन पिता उदय प्रसाद की आंखों से खुशी के आंसू छलक पड़े। बेटी को गले लगाकर बधाई दी और मिठाई भी खिलाई। उन्होंने कहा कि बेटी ने राज्य भर में परिवार का मान बढ़ाया है। आज वह खुद को काफी गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। बेटी ने सपने को साकार किया है और आगे चलकर निश्चित ही अपने मुकाम को हासिल करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.