परीक्षा एक त्योहारों की तरह है, इसलिए छात्रगन तनाव मुक्त होकर दें एग्जाम।

बोर्ड एग्जाम से पहले छात्र तनावमुक्त रहे और एग्जाम में बढ़िया प्रदर्शन कर सकें, इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एग्जाम प्रेशर को हैंडल करने के कई टिप्स दिए थे. उन्हीं में एक टिप्स को आज हम बता रहे हैं.

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) की तरफ से 10वीं की मेजर विषयों की परीक्षाएं 30 नवंबर से जबकि 12वीं की मेजर विषयों की परीक्षाएं 1 दिसंबर से आयोजित की जाएंगी. ये परीक्षाएं देश विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर होंगी. ऐसे में अभ्यर्थियों के पास एग्जाम के लिए बहुत कम समय बचा है. वहीं, एग्जाम नजदीक आने से छात्र डर ज्यादा हैं, जिसकी वजह से उनका पेपर भी खराब हो जाता है और उन्हें बढ़िया अंक नहीं मिलते हैं. बोर्ड एग्जाम से पहले छात्र तनावमुक्त रहे और एग्जाम में बढ़िया प्रदर्शन कर सकें, इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एग्जाम प्रेशर को हैंडल करने के कई टिप्स दिए थे. उन्हीं में एक टिप्स को आज हम बता रहे हैं.

परीक्षा त्योहारों की तरह है, इसलिए इसे सेलिब्रेट करें-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुताबिक परीक्षा त्योहारों की तरह है. इसलिए इसे उत्सव की तरह मनाए. जिस तरह दिवाली, दशहरा, होली, क्रिसमस के लिए हम एक साल का इंतजार करते हैं और तैयारियां करते हैं, उसी तरह परीक्षाएं भी एक वर्ष में एक बार आती हैं. इसलिए परीक्षाओं को सेलिब्रेट करें और टेंशन मुक्त होकर एग्जाम दें.

हम त्योहार अकेले नहीं मनाते हैं. यही कारण है कि त्योहार में हमारे साथ जितने लोग होते हैं या जितने लोगों के साथ हम त्योहार मनाते हैं, उतने खुश रहते हैं. ठीक इसी तरह एग्जाम भी हम अकेले नहीं देते हैं. हमारे साथ लाखों की संख्या में जम्मू-कश्मीर सहित अन्य राज्यों के छात्र परीक्षा देते हैं. ऐसे में हम एग्जाम के बाद अच्छा महसूस करते हैं.

एग्जाम से पहले जितनी तैयारियां हम करते हैं, एग्जाम के दौरान हम उतना ही अच्छा महसूस करते हैं. इसलिए पेरेंट्स भी अपने बच्चों के अलावा आस-पड़ोस और रिश्तेदारों के बच्चों को एग्जाम को लेकर सपोर्ट करें. ताकि वे एग्जाम में बेहतर कर सकें.

Leave a Reply

Your email address will not be published.