उच्च शिक्षा राज्यमंत्री रजनी तिवारी ने दी कुछ ऐसा ब्यान,कही मदरसों में भी लागू होनी चाहिए ड्रेस कोड।

हरदोई में छात्र छात्राओं को टैबलेट स्मार्ट फोन बाटने आईं उच्च शिक्षा राज्य मंत्री रजनी तिवारी मदरसों में भी यूनिफॉर्म कोड लागू करने के पक्ष में नज़र आईं.

हरदोई में छात्र छात्राओं को टैबलेट स्मार्ट फोन बाटने आईं उच्च शिक्षा राज्य मंत्री रजनी तिवारी मदरसों में भी यूनिफॉर्म कोड लागू करने के पक्ष में नज़र आईं. इस दौरान रजनी तिवारी ने अखिलेश यादव को भी आड़े हाथों लिया. 

विधानसभा चुनाव आचार सहिंता लगने से पहले सीएम योगी ने स्नातक परास्नातक अंतिम वर्ष के छात्र छात्राओं को टैबलेट और स्मार्ट फोन देने की शुरुआत लखनऊ से कर दी थी. आचार संहिता लगने के बाद वितरण कार्यक्रम रुक गया था. जिसकी शुरुआत अब फिर से की जा रही है. हरदोई जिले के लगभग 20 हजार स्नातक व परास्नातक अंतिम वर्ष के छात्रों को टैबलेट व स्मार्ट फोन बांटे जाने हैं, जिसमें स्नातक के छात्रों को स्मार्ट फोन और परास्नातक वालों को टेबलेट वितरण की योजना है.

इसी के तहत आज हरदोई के जीडीसी में उच्च शिक्षा राज्यमंत्री रजनी तिवारी ने 436 विद्यार्थियों को टैबलेट और स्मार्ट फोन वितरित कर योजना की शुरुआत की. कार्यक्रम के बाद पत्रकारों के सवालों के जबाब देते हुए मंत्री रजनी तिवारी ने कहा कि ढाई लाख विद्यार्थियों को लाभ पहुंचाने का सरकार का लक्ष्य है. कोरोना काल मे पढ़ाई लिखाई बाधित हुई थी, इसी के चलते सरकार बच्चों को टैबलेट और स्मार्ट फोन बांट रही है.

गोरखनाथ मंदिर पर हुए हमले पर अखिलेश यादव की टिप्पणी पर रजनी तिवारी ने कहा कि ये एक गम्भीर मसला है, इस पर ऐसी बात करना ठीक नहीं है. पूर्व में मंत्री रहे मोहसिन रजा के मदरसों में ड्रेस कोड लागू करने की बात कहने के सवाल पर रजनी तिवारी ने कहा कि स्कूल में सभी बच्चों को अनुशासन सिखाया जाता है, बच्चों के लिए यूनिफॉर्म बहुत आवश्यक है. मदरसे भी इसी जुड़े हुए हैं, वहां भी यूनिफॉर्म का लागू होना कुछ गलत नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.