वर्दी का फर्ज: ठग निकला मंगेतर तो इस सब-इंस्पेक्टर ने खुद ही भेज दिया जेल, इसी साल होने वाली थी शादी

पोगाग ने झूठा दावा किया था कि वह असम में ओएनजीसी के साथ काम कर रहा है। कंपनी में नौकरी दिलाने के नाम पर वह लोगों से पैसे मांगता था। पुलिस के मुताबिक, पोगाग ने कथित तौर पर लोगों से करोड़ों रुपये ठगे।

कहते हैं कि वर्दी का फर्ज सर्वोपरि होता है और इस महिला पुलिसकर्मी ने इस बात को सच साबित कर दिया। दरअसल असम पुलिस ने तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम (ओएनजीसी) में नौकरी का झांसा देकर कई लोगों को ठगने वाले एक ठग को गिरफ्तार किया है। राणा पोगाग नाम के इस शख्स को उसकी मंगेतर जुनमोनी राभा द्वारा गिरफ्तार किया गया जोकि नगांव में एक पुलिसवाली हैं और उन्होंने ही उसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी। 

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, पोगाग ने झूठा दावा किया था कि वह असम में ओएनजीसी के साथ काम कर रहा है। कंपनी में नौकरी दिलाने के नाम पर वह लोगों से पैसे मांगता था। पुलिस के मुताबिक, पोगाग ने कथित तौर पर लोगों से करोड़ों रुपये ठगे। उसने असम के नागांव जिले की सब-इंस्पेक्टर जुनमोनी राभा से खुद को जनसंपर्क अधिकारी बताकर अपना परिचय दिया था। दोनों ने पिछले साल अक्टूबर में सगाई की थी और नवंबर में शादी करने वाले थे।

लेकिन जैसे ही जुनमोनी राभा को पता चला कि वह एक ठग है, उन्होंने तुरंत उसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई। राभा ने मीडिया से कहा, “मैं उन तीन लोगों की आभारी हूं जो मेरे पास उसके (राणा पोगाग) के बारे में जानकारी लेकर आए कि वह कितना बड़ा धोखेबाज है। उन्होंने मेरी आंखें खोल दीं।”

असम पुलिस की जुनमोनी राभा जनवरी में उस समय सुर्खियों में आई थीं, जब उन्होंने बिहपुरिया विधायक अमिय कुमार भुइयां के साथ एक कॉल के दौरान कानून का उल्लंघन करते पाए जाने पर भाजपा समर्थकों का समर्थन करने से इनकार कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.