इन्फोसिस में नौकरी छोरने की क्या थी बजह, तीन महीने में 80 हजार कर्मचारियों ने छोड़ी नौकरी। जानिए

आईटी सेक्टर की प्रमुख कंपनी Infosys से नौकरी छोड़कर जाने वाले एंप्लाइज की संख्या लगातार बढ़ रही है. जनवरी-मार्च 2022 तिमाही में कंपनी के 27.7% कर्मचारी नौकरी छोड़कर चले गए.

देश की दूसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर सेवा कंपनी Infosys से नौकरी छोड़कर जाने वाले कर्मचारियों की संख्या लगातार बढ़ रही है. अगर तिमाही दर तिमाही के आंकड़े देखेंगे तो पता चलेगा कि इसमें जबरदस्त इजाफा हुआ है. कंपनी द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, जनवरी-मार्च 2022 तिमाही में 27.7% कर्मचारी नौकरी छोड़कर चले गए.

27.7 फीसदी लोगों ने छोड़ी नौकरी

Infosys ने 2021-22 में वैश्विक स्तर पर 85,000 नये लोगों (फ्रेशर) को नौकरी दी. कंपनी चालू वित्त वर्ष में 50,000 नये लोगों को नौकरी देने की योजना बना रही है.

हालांकि, कंपनी छोड़कर जाने वालों का प्रतिशत मार्च तिमाही में 27.7 प्रतिशत रहा. उद्योग में प्रतिभाओं की बढ़ती मांग और बदलते मांग परिवेश के साथ कंपनी छोड़कर जानों वालों का प्रतिशत अधिक है.

कंपनी को हुआ 12 प्रतिशत का लाभ

ये बीते 12 महीने में सबसे नौकरी छोड़कर जाने वालों का सबसे अधिक प्रतिशत है. ये लगातार तीसरी ऐसी तिमाही है जब नौकरी छोड़ने वालों की संख्या 20% से ज्यादा रही है.

हालांकि कंपनी ने बताया कि Infosys का एकीकृत शुद्ध लाभ बीते वित्त वर्ष 2021-22 की जनवरी-मार्च तिमाही में 12 प्रतिशत बढ़कर 5,686 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. 

रूस में किया कारोबार बंद

कंपनी ने कहा कि वो रूस में अपने कारोबार को समेटकर वहां से निकलेगी. इसके साथ इन्फोसिस उन कंपनियों की सूची में शामिल हो गयी है जो यूक्रेन पर हमले के बाद रूस से बाहर निकल रही हैं.

इन्फोसिस ने कहा कि वो फिलहाल रूस के अपने ग्राहकों के साथ कोई कारोबार नहीं कर रही है और न ही आने वाले समय उनके साथ काम करने की योजना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.