IIT कानपुर को दिए 100 करोड़ रुपये, बड़ा दिलदार निकला ये स्‍टूडेंट कौन है ये शख्‍स?

आईआईटी कानपुर को यहां के पूर्व छात्र ने 100 करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता दी है. यह पैसे स्‍कूल ऑफ मेडिकल साइंसेस एंड टेक्‍नॉलॉजी के विकास में मदद करने के लिए दिए गए हैं.

एक पूर्व छात्र ने अपने शैक्षणिक संस्‍थान को इतनी बड़ी दान राशि दी है, जिसे सुनकर कोई भी चौंक जाएगा. यह राशि 100 करोड़ रुपये की है और IIT-कानपुर (IIT-K) को दी गई है. यह संस्‍थान के अब तक के इतिहास में किसी पूर्व छात्र की ओर से दी गई सबसे बड़ी आर्थिक सहायता है. यह पैसा स्‍कूल ऑफ मेडिकल साइंसेस एंड टेक्‍नॉलॉजी के विकास में मदद करने के लिए दिए गए हैं. 

इंडिगो के को-फाउंडर ने दिए हैं 100 करोड़ रुपये 

इंडिगो एयरलाइन के सह-संस्‍थापक (Co-Founder of IndiGo) और अरबपति कारोबारी राकेश गंगवाल (Rakesh Gangwal) ने IIT-कानपुर को यह धन राशि दी है. इस पैसे का उपयोग कैंपस में 500 बेड का सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल बनाने में भी होगा. 

टाइम्‍स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक इस प्रोजेक्‍ट पर करीब 600 करोड़ रुपये खर्च होंगे. जिसमें से 350 करोड़ रुपये अब तक जुटाए जा चुके हैं. आईआईटी के निदेशक प्रो. अभय करंदीकर ने बताया कि राकेश गंगवाल की ओर से की गई आर्थिक मदद और एमओयू से संस्थान में स्थापित किए जा रहे स्‍कूल ऑफ मेडिकल साइंसेस एंड टेक्‍नॉलॉजी को और बेहतर बनाने, शोध कार्यों को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी. बता दें कि सोमवार को मुंबई में हुए एक कार्यक्रम में आईआईटी-कानपुर और राकेश गंगवाल के बीच एमओयू साइन किया गया. 

आईआईटी से की है मैकेनिकल इंजीनियरिंग 

राकेश गंगवाल कोलकाता के निवासी हैं और 1975 में उन्‍होंने आईआईटी कानपुर से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की थी. 1980 में वे एयरलाइन इंडस्‍ट्री से जुड़े और बाद में इंडिगो के को-फाउंडर बने. 

बता दें कि इससे पहले फ्लिपकार्ट के बिन्नी बंसल भी IIT-दिल्ली को 100 करोड़ रुपये की धन राशि दे चुके हैं. 

Leave a Reply

Your email address will not be published.