पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का देश हित मे लिया गया निर्णय आज भी प्रासंगिक:ललन कुमार

गुरुवार को भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 75वीं जयंती था। उनका जन्म 20 अगस्त 1944 को हुआ था। राजीव गांधी को आधुनिक भारत का निर्माता भी कहा जाता है। उन्होंने अपने प्रधानमंत्री रहते कुछ ऐसे निर्णय लिए जिसका फायदा आज भी देश के गरीब गुरबों को  मिल रहा है।पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के जन्मदिवस के मौके पर बिहार युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष  ललन कुमार ने कहा कि देश के सबसे युवा प्रधानमंत्री रजाव गांधी की दूरगामी सोच और फैसले से आज भी भारत की जनता को बहुत लाभ मिल रहा है।उन्होंने कहा कि राजीव गांधी ने पंचायती राज व्यवसथा लागू कर देश के लोकतंत्र को मतबूत बनाने का काम किया है। कांग्रेस नेता ने कहा कि राजीव गांधी ने ही वोट देने की उम्र 21 वर्ष से घटाकर 18 वर्ष की थी. ग्रामीण इलाकों में आधुनिक शिक्षा के लिए उन्होंने नवोदय विद्यालयों की शुरूआत की थी। राजीव गांधी ने 1986 में नई शिक्षा नीति लागू की। ललन कुमार ने कहा कि राजीव गांधी ने सरकारी कामकाज के समय को एक घंटा बढ़ाकर सप्ताह में 5 दिन काम का प्रावधान भी लागू किया था, इसके पीछे उनकी सोच थी कि काम भी ज्यादा हो और कर्मचारियों को भी समय मिल सके। 

ललन कुमार ने कहा कि आज रक्तदान कर हम ये संदेश देना चाहते हैं कि हम अपने खून की आखिरी बूंद तक देश और जनता की सेवा करेंगे।