पटना मीठापुर बस स्टैंड से महुली तक बनेगा 9.2 KM एलिवेटेड रोड, अगले महीने से काम होगा शुरू

राजधानी स्थित मीठापुर आरओबी से महुली तक एलिवेटेड फोरलेन सड़क निर्माण का कार्य सितंबर से जारी कर दिया जाएगा। सितंबर में इस प्रोजेक्ट पर कार्यारम्भ भी संभव है क्योंकि इस प्रोजेक्ट के लिए जमीन अधिग्रहण का कोई पेच नहीं है। बिहार राज्य पथ विकास निगम ने इस प्रोजेक्ट की निविदा कर रखी है। देश की आठ बड़ी निर्माण कंपनियों ने 1030 करोड़ रुपए के इस प्रोजेक्ट में दिलचस्पी दिखायी है। पंद्रह सितंबर तक निविदा पर अंतिम निर्णय लेकर कार्य आवंटित कर दिया जाएगा। फिलहाल निविदा का तकनीकी मूल्यांकन हो रहा है।

Demo Photo

यह एलिवेटेड अनीसाबाद-पहाड़ी जीरोमाइल (न्यू बायपास) के ऊपर से पार होगा। मीठापुर आरओबी के करबिगहिया साइड गोलंबर से सिपारा रेलवे गुमटी (2.4 किलोमीटर) तक यह एलिवेटेड पटना-गया रेलवे लाइन के पूरब सरकारी जमीन पर बनेगा। वहीं सिपारा रेलवे ढाला से महुली (6.8 किलोमीटर) तक पटना-गया रोड के ऊपर-ऊपर दौड़ेगा। दक्षिणी पटना के इस पहले महत्वपूर्ण रोड प्रोजेक्ट में जमीन अधिग्रहण की समस्या नहीं है। पथ निर्माण विभाग ने करीब 700 करोड़ की लागत वाले दक्षिण पटना के इस पहले एलिवेटेड रोड प्रोजेक्ट की पीएफआर बना ली है।

9.2 किलोमीटर लंबाई वाला पटना शहर का सबसे लंबा एलिवेटेड रोड तीन लेन (10.5 मीटर) का होगा। इंजीनियरिंग स्ट्रक्चर को अंतिम रूप देने के लिए मुंबई की एजेंसी को डीपीआर निर्माण की जिम्मेवारी सौंपी गई है। तीन महीने में मुंबई की श्रीखंडे कंसल्टेंट-नेसेंस कंसल्टेंट (जेवी) बिहार राज्य पथ विकास निगम को डीपीआर सौंपेगी। पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने कहा कि इसी वर्ष निर्माण प्रक्रिया शुरू करने की योजना है।