जिस कैंब्रिज में पैसे के कारण पढ़ नहीं पाए IIT गुरू आनंद, वहीं के छात्रों को देंगे लेक्चर

सुपर 30 के संस्थापक आनंद कुमार 26 साल पहले, 1994 में पैसे के अभाव में कैंब्रिज विश्वविद्यालय नहीं जा सके थे। लेकिन अब वे उसी विवि के छात्रों व रिसर्च स्कॉलर को संबोधित करेंगे। 4 जुलाई को वे कैंब्रिज की भारतीय सोसाइटी की अाेर से आयोजित ’सुपर 30 पर्ल्स ऑफ विजडम टर्निंग एडवांसर्स इन ऑपर्चुनिटीज’ विषय पर लाइव वेबिनार को संबोधित करेंगे। आनंद कुमार कार्यक्रम के मुख्य वक्ता हैं।

आनंद कुमार ने कहा कि कैंब्रिज मेरे लिए एक सपना था, यहां मैं अध्ययन करना चाहता था, लेकिन खराब वित्तीय स्थिति के कारण नहीं जा सका। जिस दिन कैंब्रिज से मेरा प्रवेशपत्र आया था मेरे स्व. पिता काफी खुश थे लेकिन बाद में जब वह पैसे का इंतजाम नहीं कर पाए, तो उन्हें बहुत परेशानी हुई। आज उनके ही आशीर्वाद के कारण यह सपना पूरा हो पाया है।

अानंद ने कहा कि जिस संस्थान में मैंने कभी अध्ययन करने का सपना देखा था, वहां के भारतीय समाज द्वारा आयोजित वेबिनार में बोलने का अवसर मिलना एक अच्छा अनुभव है। आर्थिक संकट के कारण कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में अध्ययन करने से चूकने के बाद ही मुझे सुपर 30 शुरू करने की प्रेरणा मिली। सुपर 30 मुझे फिर से वहां ले गया।

कैंब्रिज भारतीय सोसाइटी के सह-संस्थापक कृष्ण शर्मा ने बताया कि आनंद कुमार काे सुनना हमलोगों के लिए बड़े सम्मान की बात है। वंचित वर्ग के छात्रों के प्रति उनके सराहनीय कार्यों के लिए उन्हें हर कोई जानता है और सुनना चाहता है। उनकी अपनी जीवनयात्रा बहुत प्रेरणादायक और रोचक है। यह हमारे लिए शानदार अवसर होगा।

Leave a Comment