कभी गांव में बिजली नहीं थी, आज किसान के बेटे को मिल गई अमेरिका की यूनिवर्सिटी में 100% स्कॉलरशिप

उसके पिता किसान हैं, उसके गांव में बिजली तक नहीं आती. लेकिन, वो कहते हां कि जिनके हौसले बुलंद होते हैं, वह अपनी मेहनत से अपनी किस्मत बदलने का जज़्बा रखता है, वो बड़े से बड़े पर्वत को भी अपने सामने झुका देता है.

NBT की रिपोर्ट के अनुसार, ऐसी ही कहानी है अनुराग तिवारी की. सीबीएसई की 12वीं बोर्ड परीक्षा में 98.2 फीसदी अंक पाने वाले अनुराग को न्यूयॉर्क की कॉर्नल यूनिवर्सिटी से 100 प्रतिशत स्कॉलरशिप मिली है. अनुराग ने ह्यूमैनिटी स्ट्रीम चुनी.

उसकी ऑनलाइन क्लास 1 सितंबर से शुरू होंगी. अनुराग को इनका बेसब्री से इंतज़ार है. उसका कहना है, ह्यूमैनिटी पढ़ने के मेरे फ़ैसले पर कई लोगों ने सवाल उठाए क्योंकि उन्हें लगता था कि यह लड़कों के लिए नहीं है.” अनुराग ने पांचवी क्लास तक पढ़ाई लखीमपुर खीरी से 60 किमी दूर अपने गांव में ही की. इसके बाद उन्होंने उसने विद्या ज्ञान में एडमिशन के लिए एंट्रेस एग्ज़ाम क्वालीफ़ाई किया और वहां पढ़ाई की. (ये यूनिवर्सिटी ग्रामीण उत्तर प्रदेश के आर्थिक रूप से कमज़ोर बच्चों को चुनती है.

Leave a Comment