बिहार वापस लौटे सभी प्रवासी मजदूरों को राशन देंगे : पप्पू यादव

जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और मधेपुरा के पूर्व सांसद पप्पू यादव ने पूर्णिया में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किए. उस दौरान उन्होंने कहा कि जब मजदूर सड़क पर पैदल हजारों किलोमीटर चलने को मजबूर थे तब सत्तारूढ़ दल के नेता कहाँ थे? मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री ने दर्शन नहीं दिए. विपक्ष ने भी जनता की आवाज नहीं उठाई. हर साल लाखों बिहारियों को रोजगार के लिए दूसरे राज्य जाना पड़ता है. यह पिछले 30 वर्षों की असफलता का परिणाम है.

पप्पू यादव ने कहा कि, “हम बिहार वापस लौटे सभी प्रवासी मजदूरों के घर राशन पहुंचाएंगे. हम चावल, आटा, सरसों तेल, मसाला, दाल और साबुन जरूरतमंदों को देंगे.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि, “हवाई जहाज से आने वाले व्यक्ति क्वारंटाइन नहीं होता है लेकिन श्रमिक स्पेशल ट्रेन से आने वाले गरीबों को 14 दिन क्वारंटाइन सेंटर में रखा जा रहा है. जहां स्थिति बहुत ही खराब है. लोगों को न समय पर अच्छा खाना मिलता है और न ही साफ-सफाई की कोई व्यवस्था है.

जाप अध्यक्ष ने कहा कि, “श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में 80 से ज्यादा मौतें हुई हैं. इन मौतों की जांच होनी चाहिए और रेल मंत्री पियूष गोयल के खिलाफ आपराधिक मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए.”

राज्य में बढ़ते अपराध पर पप्पू यादव ने कहा कि, “सिर्फ लॉकडाउन के दौरान छः दर्जन से अधिक लोगों की हत्या हुई. गैंगवार हुए और राजनीतिक हत्याएं भी हुई. लचड़ कानून व्यवस्था आम जनता के लिए परेशानियां खड़ी कर रहा है.”