कोरोना संकट के बीच दो महीने में 1 लाख लोगों को रोजगार देगी ये कंपनी, पढ़िए पूरी खबर

कोरोना संकट ने एक तरफ देश की अर्थव्यवस्था ढीली पड़ गयी वहीं इसको देखते हुए भारतीय कपड़ा उद्योग, बैग बनाने वाली समेत कई बड़ी कंपनियों ने अपने बिजनस मॉडल में सुधार लाया, जिसका सीधा फायदा कंपनी के साथ-साथ देश को भी मिल रहा है. कोरोना काल में  मास्क और पीपीई किट ऑन डिमांड है. ऐसे में बेंगलुरू की कंपनी वाइल्डक्राफ्ट अगले 60 दिन में करीब एक लाख लोगों को रोजगार दे सकती है. 

 वाइल्डक्राफ्ट ने 11 शहरों में 63 कारखानों के साथ मीट अप किया है. इससे कंपनी को काफी लाभ भी मिला. कंपनी अब तक करीब 30,000 लोगों को रोजगार दे चुकी है. इन कारखानों में कंपनी दोबारा उपयोग में आने वाली पीपीइ और ‘सुपरमास्क’ का विनिर्माण करा रही है.

कंपनी की क्षमता एक दिन में 10 लाख मास्क बनाने की है. कंपनी के सह-संस्थापक गौरव डुबलिश ने कहा, ‘ कोविड-19 के चलते इन उत्पादों की मांग बढ़ी है, लेकिन कपड़ा उद्योग ने कभी भी स्वास्थ्य देखभाल उत्पादों का उत्पादन फैशन उत्पाद की श्रेणी में होते नहीं देखा. हमने अपने आप को इस नए स्वरूप में बखूबी ढाल लिया है.

Advertisement
Advertisement
Advertisement