कृप्या ध्यान दें अगर आप डायबिटीज के मरीज है तो इस आटे की रोटी से बनाएं दूरी, नहीं तो बढ़ सकता है आपका ब्लड शुगर।

डायबिटीज के मरीजों को अपने खान-पान पर खास ध्यान देना होता है. ऐसे मरीजों को गेहूं की आटे की रोटी को ज्यादा नहीं खाना चाहिए, नहीं तो आपका ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है.

डायबिटीज के मरीजों को अपने खान-पान पर विशेष देना देता है. थोड़ी सी लापरवाही उन्हें भारी पड़ जाती है और ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल से बाहर हो जाता है. इसलिए एक्सपर्ट भी मानते हैं कि मरीजों को वही फूड्स अपनी डाइट में शामिल करने चाहिए, जिससे ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहे. 

गेहूं के आटे से बढ़ सकता है ब्लड शुगर

कई रिपोर्ट में दावा किया गया है कि भारत में 7 करोड़ के करीब लोग डायिबटीज से पीड़ित हैं. ऐसे में मरीजों को ऐसे फूड्स से दूरी बनानी होगी, जिनका ग्लासेमिक इंडेवैल्यू अधिक होता है.

ऐसे में गेहूं के आटे में कार्ब्स मौजूद होता है, जो शुगर के मरीजों के लिए हानिकारक हो सकता है. इससे ब्लड शुगर लेवल बढ़ने की संभावना होती है. कोशिश करें कि इस आटे की रोटियां ज्यादा न खाएं. 

इन चीजों से भी बनाएं दूरी

इसके अलावा हाई ब्लड शुगर लेवल की समस्या से पीड़ित लोगों को रोजाना बासी रोटी और ठंडे दूध का सेवन नहीं करना चाहिए. आप चाहे तो ठंडे दूध में बासी रोटी को भिगोकर 10-15 मिनट के लिए छोड़ दें.

इसके बाद दिन में आप इसका सेवन कर सकते हैं. इससे ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहेगा. 

इस आटे की रोटी खाएं मरीज

डायबिटीज के मरीज चने के आटे की रोटी खा सकते हैं. इसके सेवन से आपका ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है.  दरअसल, चने के आटे में घुलनशील फाइबर होता है जो कि शरीर में बढ़ रहे बैड कोलेस्ट्रॉल लेवल कंट्रोल करने में भी सहायक होता है.

इसके अलावा खून में ग्लूकोज के अवशोषण की प्रक्रिया को भी धीमा करता है, जिससे शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है. 

Leave a Reply

Your email address will not be published.